Skin Allergy

वैसे तो allergies एक common बीमारी है और कभी न कभी प्रत्येक को इसका सामना करना पड़ा होगा, अगर कोई अबतक इसका सामना न किया है तो भविष्य में कभी न कभी इसकी चपेट में आ सकता है.

अगर आप ने देखा होगा या कहें तो allergies के प्रकार अनेक होते हैं. कुछ लोगों को allergies का अनुभव तब होता है जब वे या तो कुछ सामग्रियों को छूते हैं या फिर किसी माध्यम से उनके अन्दर पहुँच जाता है.

इसकी प्रतिकियाएँ यह हो जाती है व्यक्ति की आंखे या त्वचा लाल हो जाता है या फिर चपेट में आने वाले व्यक्ति का नाक और गला प्रभावित हो जाता है यह फिर व्यक्ति respiratory सम्बंधित समस्या का सामना करने लगता है.

इसके चपेट में आने वाला व्यक्ति को कभी इससे बहुत आसानी से छुटकारा मिल जाता है तो कभी-कभी यह व्यक्ति के लिए जानलेवा साबित हो जाता है.

इसलिए कोशिश यही होनी चाहिए कि कार्यस्थल पर कोई भी employees/workers इसकी चपेट में न आये, जिससे की उसे किसी भी प्रकार का physical harm हो या internal organ (Kidney, liver, lungs) को किसी भी प्रकार का नुकसान पहुंचे.

अब Employer की जिम्मेदारी बनती है कि वह अपने प्रत्येक employees को कार्यस्थल पर allergens के संपर्क में आने से बचाने का हरसंभव प्रयास करनी चाहिए. नियोक्ताओं(employers) को इसे पहली प्राथमिकता के आधार पर लेनी चाहिये.

Definition of Allergies-

“एक ऐसी स्थिति जिसमें immune system किसी बाहरी पदार्थ के संपर्क में आने के कारण असमान्य रूप से प्रतिक्रिया करती है allergies कहलाती है.”

Causes of Allergies Risk-

यहाँ हम उस कार्य स्थल के बारे में बताने वाले हैं जहाँ common allergens के सम्पर्क में आने के कारण एलर्जी की प्रतिक्रिया हो सकती है. यह जानना बहुत आवश्यक है कि allergies के source क्या हैं अन्यथा workers इससे अनभिग्य रहेगा और हो न हो इसकी चपेट में आ जाए.

इसलिए आवश्यक है कि work place पर अगर कार्य करने वाले को भी इसके बारे में पूर्ण जानकारी हो, जिससे अगर एलर्जी के संपर्क में आने की सम्भावना दिख रही हो उससे पहले व्यक्ति alert हो जाये और चपेट में आने से बच सके.

आइये उन स्रोत को जानते हैं जो allergies का कारण बन सकती है-

Agriculture (Pestisides and Fumigants)-

कीटनाशक और फुमिगंट्स हल्के या गंभीर ज़हर का कारण बन सकता है. अगर कोई व्यक्ति इन कीटनाशक दवाओं के संपर्क में लम्बे समय तक रहता है तो उसे कैंसर होने की सम्भावना अधिक हो जाती है.

कई बार workers कीटनाशक दवाओं का छिड़काव का store करते समय precaution नहीं लेते हैं जिसके कारण skin के माध्यम से pesticides शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाता है जो हमारे internal organ को नुकसान पहुँचा सकता है.

कई बार रसायन खुले होते हैं और उसकी गंध हवा में तैरती रहती हैं जो सांस के द्वारा अन्दर जाने कारण व्यक्ति को नुकसान पहुँचा सकते हैं. कई बार सूंघने वाले व्यक्ति की स्थित इतनी नाजुक हो जाती है कि उसे medical treatment की अवश्यकता होती है, अगर यह समय पर नहीं उपलब्ध होता है तो व्यक्ति की मृत्यु भी हो जाती है.

Chemical handling –

बहुत से ऐसे chemical होते हैं जो harmful होते हैं और उसके सम्पर्क में आने के कारण व्यक्ति skin सम्बंधित allergies होने की सम्भावना रहती है. कई बार यह skin के माध्यम से शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाता है और internal organ को नुक्सान पहुँचाने लगता है. इसलिए जव handling किया जाता है तो सुरक्षा का ध्यान रखते हुए इसे स्थानांतरित किया जाता है.

Commercial laundry-

कपड़ों के दाग धब्बे छुड़ाने के लिए बहुत से ऐसे chemical का प्रयोग किया जाता है जो human health के लिए नुकसानदायक होता है. अगर इसके सूंघ लेते हैं या फिर किसी भी माध्यम से शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाता है तो medically treatment की अवश्यकता पड़ जाती है अन्यथा यह जानलेवा साबित हो सकता है.

Construction site –

  • Working site पर ऐसा कार्य हो रहा है जहाँ dust हवा में उड़ रहे हैं और व्यक्ति बिना respiratory protection का कार्य कर रहा है तो allergies की सम्भावना रहती है.
  • Isocynates, solvent, paint का अगर spray किया जा रहा है तो allergy हो सकती है.

Manufacturing-

Manufacturing के दौरान अगर solvent, nikel, platinum और wood dust निकल रहा है तो इससे allergy हो सकती है अर्थात यह respiratory protection को नुक्सान पहुँचा सकता है.

Pest Control –

घर, आफिस या वर-हाउस में अगर कीड़े-मकोड़े अधिक हो जाते हैं तो वहाँ उन्हें भगाने के लिए pest control  की अवश्यकता होती है ऐसे में pest control करते समय व्यक्ति ऐसे insect के संपर्क में आया सकता है जो allergy का कारण बन जाते हैं.

Reduce the Risk of Allergies-

ऐसे स्थान पर कार्य हो रहा है जहाँ allergies की सम्भावना रहती है तो employer की यह आवश्यकता होती है की वह hazards को control करे और risk को reduce करने के लिए तत्परता दिखाए.

जोखिम नियंत्रण योजना (exposure control plan) जोखिम कम करने का सबसे प्रभावी तरीका है. यह workplace पर risk के control करता है और उसके परिणाम को देखता है.

Allergies के risk को hierarchy of control hazard के माध्यम से दूर करने के बारे समझते हैं.

  1. Elimination-

जहाँ तक संभव हो खतरे को सुरक्षित प्रकिया में संचालन की अवश्यकता होती है, यह तब संभव होता है जब कोशिश यह होती है कि खतरनाक सामग्री का प्रयोग करने से बचा जाए और उसके स्थान पर ऐसे material का प्रयोग किया जाए जो ज्यादा खतरनाक न हो.

  • Workplace पर कोशिश यही होनी चाहिए की non-allergenic material का प्रयोग किया जाये.
  • काम को इस तरह से संचालन करने का प्रयास करना चाहिए जब कम allergies उत्पन्न करे.

Engineering Control-

अगर कहीं कार्य होना है और वहाँ allergies की सम्भावना हो तो  को manually संचालन न किया जाये. कोशिश यह होनी चाहिए कि अगर कार्य को mechanical method से समाप्त किया जाए और ऐसे कार्य स्थल पर जोखिम काफी हद तक कम हो जाता है.

  • ऐसे स्थान पर वेंटिलेशन लगाना चाहिए जहाँ गंध के होने से workers को allergy का खतरा रहता है.
  • यह देखना चाहिए की जिस स्थान पर allergen उत्पन्न करने या उसके चपेट में आने वाले कार्य होने हैं, क्या बिना workers के वह कार्य को संपन्न किया जा सकता है जिसके कारण risk कम हो जाये या समाप्त हो जाए.

Administration Control-

अगर अवश्यकता के अनुसार work practice, work policies, awareness tools या फिर work training के माध्यम से allergies के risk को कम कर सकते हैं या फिर सिमित कर सकते हैं तो उसे करना चाहिए .

आइये निमं बिन्दुओं के माध्यम से इस पर विचार करते हैं.

  • जितनी आवश्यकता हो working site पर जिस area में allergies की सम्भावना है वहाँ warning signs को posted करना चाहिए.
  • यह भी देखना आवश्यक होता है कि जो warning sign poste किया गया है वह allergies के symptoms को संकेत को समझा रहे हैं या नहीं.

Personal Protective Equipment-

जो स्वयं सुरक्षा उपकरण (Personal Protective Equipment) होता है वह सबसे कम प्रभावी नियंत्रण है, इसलिए आवश्यक है की पहले risk का level होता है वह अन्य माध्यम से कम करते हैं और PPE को अन्य नियंत्रण के संयोजन से उपयोग करते हैं.

  • यह देखना आवश्यक होता है कि workers ऐसे स्थान पर respiratory protection, eye wear या protecting clothing का प्रयोग कर रहा है जहाँ allergies की संभवना बन रही है. क्योंकि allergy से eye, respiratory या फिर skin जल्दी चपेट में आते हैं.
  • PPE का प्रयोग करने से पहले test करना आवश्यक होता है? यह इसलिए ज़रूरी है क्योंकि defected PPE पहनने पर खतरे की चपेट में आने की सम्भावना अधिक होती है.

इसे भी पढ़ें-