Radiation Definition-

“जब किसी पदार्थ से कोई energy किरण (rays) के रूप में या फिर high-speed particles के रूप में बाहर निकलती है तो इसे ही radiation कहते हैं.”

Radioactive Materials-

Radioactive materials वह उस पदार्थ को कहते हैं जिससे रेडिएशन निकलता है, radioactive materials कहलाता है.

इसे उदहारण से समझते हैं –

कोई torch हैं, जब हम उसे जलाते हैं तो उससे प्रकाश निकलता है, इसमें जो torch है वह radioactive material है और उस टार्च से निकलने वाला प्रकाश radiation कहलायेगा.

Types of Radiation –

यह दो प्रकार के होते हैं.

  1. Ionizing Radiation
  2. Non-Ionizing Radiation

दोनों का अलग-अलग समझते हैं.

  1. Ionizing Radiation –

a. Alfa

b. Beta

c. Gamma

Alfa Radiation-

  • इसके rays बहुत कमजोर होते हैं. यह इतनी कमजोर होती है कि आप के skin के ऊपर जो dead layers होती है उसको भी यह बाहर नहीं कर सकती. कोई व्यक्ति इसकी चपेट में आता है तो उसके सेहत पर ना के बराबर प्रभाव पड़ता है.
  • यह इतनी कमजोर होती है कि जहाँ से निकल रही हो वहाँ कागज का टुकड़ा रखने पर भी उसको भेद नहीं सकती.
  • अगर आप ने कपडा पहन रखा है तो यह रेडिएशन इतना कमजोर होता है कि उसको भी भेद नहीं सकता.
  • अल्फ़ा रेडिएशन से हमारे body के भाग को किसी भी प्रकार का नुक्सान नहीं होता है लेकिन जब यह किसी भी तरह से आप के शरीर के अन्दर प्रवेश कर जाता है जैसे-आप radiation contaminated चीज खा लेते हैं या पी लेते हैं तो यह आप के लिए बहुत घातक सिद्ध हो सकता है.
  • इसकी गति प्रकाश के गति के 10 प्रतिशत ही होती है.
  • जो alpha particle होते हैं उस पर +ve charge होता है.

 Beta Radiation –

  • जो बीटा रेडिएशन होता है अगर कोई व्यक्ति उसकी चपेट में आता है तो यह 0.2 से 1.3 cm अन्दर तक जा सकता है.
  • अगर यह लम्बे समय तक आप के शरीर के किसी भाग पर पड़ता है तो वह उसको जला सकता है.
  • बीता रेडिएशन को रूम की दिवार से रोका जा सकता है यह कमरे की दिवार को भेद नहीं सकता या फिर किसी plastic sheet 1.3 cm का हो तो उसको भी भेदना बीटा रेडिएशन के लिए संभव नहीं होता है.
  • Beta particles पर –ve charge होते हैं.

Gamma Radiation –

  • Gamma radiation के भेदने की क्षमता alfa और बीटा रेडिएशन से अधिक होती है.
  • अगर कोई व्यक्ति इसकी चपेट में आता है तो शरीर के बाहरी भाग के साथ-साथ यह शरीर के आतंरिक भाग को नुक्सान पहुँचा सकता है.
  • यह रेडिएशन  हवा में कई meter तक travel कर सकता है.
  • Gamma rays पर किसी भी प्रकार का charge नहीं होता है.
  • इसकी speed प्रकाश वर्ष के light के बराबर होती है.
  1. Non- Ionizing Radiation

जो Non- Ionizing Radiation होता हैं वह ज्यादा खतरनाक नहीं होते हैं. इसका इस्तेमाल medical field में अधिक होता है.

a. Radio Frequency Wave-

इसका इस्तेमाल MRI के लिए किया जाता है.

b. Infrared Radiation –

  • अगर किसी को muscular pain है तो heat therapy के माध्यम से उसे दूर करने का प्रयास किया जाता है.
  • जब हम किसी mart में जाते हैं तो दरवाजे के पास यह लगा होता है जो scanning का काम करता है.
  • किसी छोटे बच्चे को आप हेलीकाप्टर या जहाज की शक्ल में खिलौने को उड़ाते हुए देखते हैं तो यह इन्फ्रा रेडिएशन के माध्यम से ही command किया जाता है.

c. Sonic Waves-

  • Sonography के दौरान ultra sonic waves का प्रयोग किया जाता है.
  • Color Doppler में इसी waves का प्रयोग किया जाता है.

d. Micro Waves Radiation-

Telephone, Radio, Television में इसका प्रयोग किया जाया है.

इसके अलावा निमं स्थान पर Non- Ionizing Radiation का प्रयोग किया है –

  • Visible Light
  • Heat
  • Radar
  • Microwaves
  • Radio waves