Work at height can be Dangerous if Safety Precaution not Applied

Safety Tips for Working at Height –

आप जिस भी industry के अन्दर काम कर रहे होते हैं वहाँ पर अगर ऊंचाई पर कार्य हो रहा होता है, चाहे वह कार्य लम्बे समय के लिए या फिर कम समय के लिए क्यों ना हो रहा हो, सुरक्षित रूप से काम करना हमेशा पहली प्राथमिकता होनी चाहिए.अगर कार्य के दौरान height safety का प्रयोग नहीं किया जाता तो यह गंभीर चोट का या मृत्यु का कारण हो सकता है.

इसलिए जब ऊंचाई पर कार्य किया जा रहा हो तो अपने employees को work at height hazards से बचने के लिए अर्थात height safety के लिए हमेशा तैयार रखने की अवश्यकता होती है. जिससे गिरने के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सके.

आइये उन 10 height safety को जानते हैं जिसे ऊंचाई पर कार्य करते हुए इसके नियम का पालन करना प्रत्येक कर्मचारी की जिम्मेदारी होती है.

1.Use Railing –

जब height पर कार्य हो रहा होता है तो height safety के लिए railing का उपयोग करना आवश्यक होता, जिसका प्रयोग करते हुए.कर्मचारियों को सुरक्षित रखा जाता है. इसके लिए किसी विशेष प्रकार के प्रशिक्षण की अवश्यकता होती है. हाँ कार्य करने से पहले guard rail चाहे जिस प्रकार का बना हो inspection करना आवश्यक होता है.

जहाँ तक railing के प्रकार की बात है यह भिन्न-भिन्न प्रकार के होते हैं . इसमें से कुछ इस प्रकार है जैसे –non-penetrating railing, parapet mounted railing, metal roof railing आदि.

2. Use Correct PPE (Personal Protective Equipment)-

जब भी height पर कार्य होता है तो height safety के लिए PFAS (Personal Fall Arrest System) का उपयोग किया जाता है, और प्रयोग करने से पहले आप को यह सुनिश्चित करना होता है की आप उचित उपकरण चुने हैं या नहीं. ऊँचाई पर कार्य करते हुए आप जिस full body harness का प्रयोग किया जाता है. यह आवश्यक नहीं है वह बहुत महँगे हों, कम दामों के भी harness बाज़ार में उपलब्ध है जिसे प्रयोग में लाया जा सकता है. हाँ महँगे harness ज़रूर कुछ आरामदायक होते हैं.

ऊँचाई पर कार्य करने से पहले आप को यह शोध करने की अवश्यकता होती है कि आप को वास्तव में किस तरह के PPE की अवश्यकता होती है. जैसे जब ऊंचाई पर कार्य हो रहा है तो nylon harness का प्रयोग करना height safety की दृष्टि से अच्छा विकल्प नहीं होगा. क्योंकि hot spatter के सम्पर्क में आने के कारण इसे damages की सम्भावना अधिक होती है.

इसलिए ऐसे harness का प्रयोग करना आवश्यक होता है जो spatter के संपर्क में आने के पश्चात् damages की संभवना कम हो.

Safety at height के लिए यह बहुत आवश्यक होता है की अपने कर्मचारी को पहचान करने के प्रशिक्षण देने की अवश्यकता होती है कि वह जान सके की कौन से परिस्थिति में किस तरह के personal protective equipment की अवश्यकता होती है.

3. Inspect Your PPE –

ऊंचाई पर कार्य करते हुए सर्वप्रथम यह सुनिश्चित करना होता है कि height safety के लिए आवश्यक उपकरण उपलब्ध है या नहीं, अगर उपलब्ध है तो यह बहुत अच्छी बात है. क्योंकि अगर system proper training या फिर PPE को inspect करने   में fail हो जाता है और यदि कर्मचारी के अन्दर safety सम्बंधित awarness है तो ज्यादा फर्क नहीं पड़ता.

Safety at Height के लिए जिस harness का प्रयोग किया जाता है उसका yearly inspection करना आवश्यक होता है. यदि आप अधिक बार inspection नहीं कर सकते हैं तो तो कम से कम एक बार competent person के द्वारा जो खतरे को पहचानने और इसे दूर करने की क्षमता रखता हो.

लेकिन ऊंचाई पर कार्य करने से पहले जो PPE का उपयोग करने वाला व्यक्ति होता है उसे इसे स्वयं inspection की अवश्यकता होती है. यह भी बहुत महत्वपूर्ण होता है कि जो personal protective equipment का प्रयोग कर रहा है उसे इस बात की समझ होनी चाहिए कि PPE सही है या नहीं या ऐसी परिस्थिति में क्या स्वीकार है या क्या नहीं? और इस तरह की समस्या को दूर करने के लिए कौन से step उठाने होते हैं.

जो PPE का प्रयोग किया जा रहा है उसे inspect करने में अधिक समय नहीं लगता है लेकिन इसे करना आवश्यक होता है , क्योंकि यह जीवन और मृत्यु के बीच अंतर को कम करता है.

4. Ensure Workers Understand Fall Distance –

Height Safety के लिए employees भले की सबसे अच्छा से अच्छा fall protection को क्यों ना पहन लें यदि वह fall distance को नहीं समझता है तो सब कुछ व्यर्थ है. चूँकि यह बहुत साधारण सी बात लगाती है लेकिन जब तक workers fall distance को नहीं समझेगा तब तक वह इसका सही से प्रयोग कदापि नहीं कर सकता है.

जब आप construction site पर जाते हैं तो आप को यह देखकर आश्चर्य होता है या फिर 10-12 फीट ऊपर कार्य करने वाला व्यक्ति 6 फीट लम्बा lanyard पहना है वो भी deceleration device के साथ.

5. Choose an Acceptable Anchor Point –

उपर्युक्त बिन्दुओं से हम यही समझते आये हैं कि या महसूस किया है गिरने से बचने के लिए PPE की बात आती है तो इसमें बहुत सारे कारक आते हैं जो ऊंचाई से गिरने का कारण हो सकते हैं. लेकिन इन सभी के आलावा ऐसे कारक का ध्यान देता होता है जो PPE से कहीं अधिक महत्वपूर्ण होता है.

 आइये इसे कुछ इस तरह समझते हैं.

मान लीजिये कोई व्यक्ति height safety के लिए बहुत high quality के harness का प्रयोग करने जा रहा है लेकिन अगर वह  lanyard को ऐसे जगह पर anchorage कर रहा है तो जो उस विशेष व्यक्ति के भार को सहन नहीं कर सकता है तो उस व्यक्ति द्वारा harness पहनने का कोई मतलब नहीं रह जाता है, चाहे वह कितना भी महंगा क्यों ना हो.

Anchor point को तभी स्वीकार्य किया जा सकता है जब वह निमं standard का अनुसरण कर रहा हो.

  • Lanyard को उस स्थान पर anchorage किया जायेगा जो एक professional engineer के द्वारा design कर के approved किया गया हो और वह स्थान जहाँ व्यक्ति के द्वारा lanyard को anchorage किया गया है वह उसकी भार को रोक सकता है या नहीं. अगर हाँ तभी उस स्थान पर anchorage करना स्वीकार्य होगा.
  • Anchorage करने से पहले यह सुनिश्चित हो लेना होता है कि anchorage point 5000 pound अर्थात लगभग 2268 kg भार को सहन कर सकता है या नहीं.

Note- बहुत से structure ऐसे होते हैं जो इस भार को सहन नहीं कर सकते हैं इसलिए इसके लिए अलग से clamp beam या फिर life line का प्रयोग करना होता है.

6. Use The Proper Equipment such as Scaffold vs Lift vs Ladder for Safety at Height –

हम इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते कि हार्नेस working at height hazards से बचने का सबसे अच्छा और अंतिम विकल्प है और ना ही गिरने से बचने के लिए समस्या का अंतिम समाधान है. जहाँ तक कहा जा सकता है कि ऊँचाई पर लम्बे समय तक कार्य के लिए scaffolding एक अच्छा और बेहतर समाधान हो सकता है.

Height Work के लिए जिस scaffolding का निर्माण किया जाता है उसे scaffolding के सभी standards को follow करना होता है. इसमें जो guard rail लगे होते हैं वह height safety के तौर पर प्रयोग में लाया जाता है और बिना इसके लगे इस  पर कार्य करने की अनुमति नहीं होती है.

कई बार परिस्थिति ऐसी हो जाती है जहाँ scaffolding को खड़ा कर पाना आसन नहीं होता है तो ऐसे स्थान के लिए lift का प्रयोग एक अच्छा विकल्प हो सकता है. जब lift का प्रयोग किया जाता है तो harness का प्रयोग परिस्थिति के ऊपर निर्भर करता है.

अगर उपर्युक्त दोनों स्थिति नहीं बन पाती है तो ऐसे स्थान पर ladder का प्रयोग करना आवश्यक होता है. यह भी कई प्रकार का होता है और सिचुएशन के हिसाब से इसका भी प्रयोग करते हैं.

उपर्युक्त बातों से यह निष्कर्ष निकलता है कि अपनी परिस्थिति को पहचाने और उसी के अनुसार height पर कार्य करने के लिए सटीक system का प्रयोग करें.

7. Ensure Proper Use of Lifts –

Lift के संचालन करने के कई तरीके होते हैं और अगर गलत तरीके से इसका संचालन किया जाता है तो दुर्घटना होने की सम्भावना हो सकती है. इसलिए ऐसे स्थानों पर कार्य करते हुए भी height safety के बारे में विचार करने की अवश्यकता होती है.

इसलिए जब व्यक्ति lift के अन्दर ऊंचाई पर कार्य कर रहा हो तो वहाँ engineer के द्वारा design किये गए anchor point की अवश्यकता होती है, जिससे ऊँचाई पर lift के अन्दर काम करने वाला व्यक्ति harness को safe place पर anchorage कर सके. कई बार हम देखते हैं की व्यक्ति guard rail के आस पास अपने lanyard लपेट देता है जो सरासर गलत होता है.

जब scissor lift का प्रयोग किया जा रहा होता है तो जो चीजे थोड़ी अलग होती हैं. जब workers employer के facility के अनुसार कार्य कर रहे होते हैं तो lanyard को scissor lift में बाँधने की आवश्यकता होती है और ऐसा करने के लिए कोई standard का अनुसरण नहीं करना होता है. हलाँकि बाँधते समय गलती की कोई भी गुंजाइश नहीं होता है अन्यथा यह आप की जीवन को खतरे में डाल सकता है.

जब height पर कार्य करते हुए lift का प्रयोग कर रहे होते हैं तो कार्य शुरू करने से पहले यह देखना आवश्यक होता है की lift का दरवाज़ा ठीक से बंद है या नहीं और chain को secure किया गया है या नहीं.

यह सभी कदम उठाकर व्यक्ति गिरने के risk को कम कर सकता है. अगर कार्य करने वाला व्यक्ति दोनों पैर को platform पर ठीक से टिकाया रहता है तो वैसे ही गिरने की संभवना कम हो जाती है , जब तक किसी भी प्रकार का technical fault ना हो.

8. Properly Use Ladder –

जब ऊंचाई पर कार्य करते हुए ladder का प्रयोग किया जाता है तो ऐसे स्थान पर दुर्घटना बस इसलिए होता है कि ladder के प्रयोग को हम हल्के में लेते हैं. Ladder का प्रयोग करने से पहले यह विचार करने की अवश्यकता होती है कि कार्य करने के लिए सबसे अच्छा समाधान है या नहीं.

इसके बाद इस बिंदु पर विचार करने की आवश्यकता होती है कि जो workers ladder का प्रयोग करने जा रहा है उसे ladder से सम्बंधित training दिया गया है या नहीं. Ladder का प्रयोग करना करना आसान दिखता है लेकिन जितना यह आसान दिखता है उतना है या नहीं.

अगर आप ladder को सुरक्षित रूप से प्रयोग करना चाहते हैं तो तीन प्रमुख बिंदुओं को जानने की अवश्यकता होती है.

  1. जिस ladder का प्रयोग कर रहे हैं उसके अंतिम rungs से ladder 3 फीट अधिक होना चाहिए.
  2. Ladder को 4:1 के ratio में खड़ा करना चाहिए.
  • जिस structure को maintain या repair करने के लिए ladder को खड़ा किया गया है वह ladder उस structure से कम से कम एक फीट दूरी पर रखना आवश्यक होता है.
  1. जब कोई भी व्यक्ति ladder पर चढ़ रहा है तो body का तीन भाग कम से कम ladder से contact में होना चाहिए.

जैसे- दो पैर एक हाथ, दो हाथ एक पैर.

  • जब आप ladder पर चढ़ रहे हैं तो आप को बाल्टी या फिर सिर पर किसी चीज को नहीं ले जाना होता है. अगर ले जाते हैं body के तीन भागों का contact नहीं बनेगा और ladder पर चढ़ने के नियम के विरुद्ध होगा.

किसी भी प्रकार के ladder चाहे उसका प्रयोग करना कितना सरल क्यों ना हो अगर उसका प्रयोग किया जाना होता है तो उससे  पहले workers को training देना आवश्यक होता है.

9. Know When and What Type of Fall Protection is Required –

OSHA द्वारा कब और किस तरह के fall protection की अवश्यकता होती है, इस पर विचार करते समय तीन कारकों पर विचार करना आवश्यक होता है.

  1. Infrequent –

वह कार्य जो महीने में एक बार या उससे कम समय पर किया जाता हो.

  1. Temporary –

ऐसा कार्य जिसे पूरा करने में 2 घन्टे या उससे कम समय लगता है.

  1. Location of Work –

जब किसी location पर कार्य होने को होता है तब आप को खतरे के निकट खतरे के निकट कार्यस्थान को निर्धारित करने की आवश्यकता होती है.

10. Training, Training and Only Training –

Fall from height से बचने के लिए उपर्युक्त सभी बिन्दुओं पर अवश्य जोर दिया गया है लेकिन इस बात पर प्रयाप्त जोर नहीं दिया गया है कि जिस workers को ऊँचाई कर कार्य करना होता है उन्हें प्रयाप्त training की अवश्यकता होती है अर्थात उन्हें ऊपर जाने से पहले height safety के लिए trained करना आवश्यक होता है.

इसमें ना केवल safety ladder से सम्बंधित standard को जानना आवश्यक होता है बल्कि उस standard से सम्बंधित training की अवश्यकता होती है. क्योंकि ज्ञान के आभाव में ऊँचाई पर कार्य करने वाले व्यक्ति को गलती और भ्रम के लिए बहुत अधिक जगह होता है.

यह केवल कंस्ट्रक्शन के दौरान काम करने में नहीं होता है बल्कि अन्य क्षेत्रों में काम के दौरान अगर ladder का प्रयोग किया जा रहा है तो accident से बचने के लिए ladder standard के बारे में जानना आवश्यक होता है.

अगर ऊंचाई पर सुरक्षित रूप से काम किया जाना है तो उचित प्रशिक्षण के साथ ध्यान की अवश्यकता होती है. अगर ladder standard का अनुसरण नहीं किया जाता है तो गंभीर चोट या दुर्घटना हो सकता है, इसलिए यह आवश्यक होता है कि ladder का प्रयोग करते समय कभी भी shortcut नहीं लेना होता है और गिरने के खतरों से बचने के लिए क्या कदम उठाना होता है यह देखना ज़रूरी होता है.