Lifting equipment and chains in exhibition store

Lifting Tools and Tackles –

जब किसी भी material को lift करते हैं अर्थात उठाते हैं तो lifting tools and tackles उस material को सुरक्षित तरीके से उठाने में अहम् भूमिका निभाता है.

आइये सबसे lifting tools and tackles के प्रकार को जानते हैं. जो किसी भी material को lift करने के लिए प्रयोग में लाये जाते हैं जो निमं है.

  1. Chain Block
  2. Chain Puller
  3. D Shackles
  4. Bow Shackles
  5. Web Sling
  6. Wire Rope Sling
  7. I to I Turn Buckles
  8. J to J Turn Buckles
  9. Hook Chook
  10. Plate Clamp
  11. I Bolt
  12. Beam Clam Lifter

उपर्युक्त 12  प्रकार के सभी lifting tools and tackles हैं. आप अगर किसी construction site पर काम कर रहे होते हैं तो कहीं ना कहीं आप को यह देखने को मिल जायेगा. वैसे तो और भी बहुत सारे tools and tackles लेकिन यह प्रमुख है और आमतौर पर lifting के लिए इसी का प्रयोग किया जाता है.

आइये अब इसे image के देखते हुए इसके function को विस्तृत रूप से समझते हैं.

  1. Chain Block –

                                         Chain Block

उपर्युक चित्र में जो आप देख रहे हैं यह chain block है. जब किसी भी heavy material को manually lift करना होता है  तो इसका प्रयोग किया जाता है. इसमें एक chain के जरिये material को खींचना होता है और दुसरे के जरिये material को बांधना होता है. यह कई तरह के होते हैं.

इसकी क्षमता 2 टन, 5 टन, 8 या 10 टन या उससे अधिक भी होती है और अपनी अवश्यकता के अनुसार इसका प्रयोग करते हैं. यह किसी भी material को उठाने या फिर उसे hold position में रखने के लिए इसका प्रयोग में लाया जाता है.

  1. Chain Puller –

                                                  Chain Puller

Chain puller का प्रयोग हम load को adjust करने या shift करने के लिए किया जाता है. जैसा की हमने देखा chain block का प्रयोग तब करते हैं जब material को vertical position में lift करना होता है .लेकिन जब हम किसी load को adjust करते हैं तो हम chain puller की सहायता से इसे adjust करते हैं, चाहे वह pipe हो या किसी भी तरह का material.

  1. D Shackles –

                        D Shackles

D Shackles अलग-अलग क्षमता का होता है और इसका प्रयोग web sling को फंसाने के लिए करते हैं. इसका प्रयोग तब किया जाता है जब web sling या rope sling को बांधने के लिए जगह नहीं होता है. और ऐसे में अगर बाँधते हैं तो rope या web sling के damages होने के chances अधिक हो जाते हैं तो ऐसे स्थान के लिए D Shackles का प्रयोग करते हैं, और उस shackles में web sling या wire rope sling को फंसाते हैं.

  1. Bow Shackles –

                        Bow Shackle

इसका भी प्रयोग किसी भी material को उठाने के लिए और web sling को उसमें फंसाने के लिए इसका प्रयोग करते हैं. जिससे material को सुरक्षित तरीके से lift किया जा सके. इसे जहाँ पर sling को बाँधते है उसी के बीचे में इसका प्रयोग कर सकते हैं. क्योंकि आसानी से sling को बांध नहीं सकते तो ऐसे स्थान के लिए bow shackles का प्रयोग करते हैं. यह sling को damage होने से बचाता है और आसानी से बिना किसी खतरे के material lift हो जाता है.

  1. Web Sling –

 

                         Different Color Web Sling

तस्वीर में दिखाए गए अलग-अलग रंग के पट्टी को web sling कहते हैं.इसे भी material को lift करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है. यह nylon, cotton और polyester का बना होता है. अलग-अलग color के web sling की क्षमता अलग-अलग होती है. Web sling पर जितने भी संख्या में सिलाई की गयी होती है उतनी ही tone उसकी क्षमता होती है.

Web sling के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे वाले लिंक पर क्लिक करके इसके बारे में और अधिक जान सकते हैं.

  1. Wire Rope Sling –

                                          Wire Rope Sling

इसका भी प्रयोग किसी भी heavy material के lift के लिए किया जाता है. इसकी load capacity कैसे निकला जाए यह जानने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें.

  1. I to I Turn Buckles-

                         I to I Buckles

इसके दोनों end को I to I बोलते हैं इसका प्रयोग किसी भी material को adjust करने के लिए किया जाता है. Height पर काम करते हुए life line को tight करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है. इसने दोनों side में thread को फंसाया जाता है और जैसे-जैसे इसे घुमाया जाता है life line tight हो जाता है.

जिस तरह की आप की working condition हो इस turn buckles की सहायता से आप उस life line को adjustment कर सकते हैं.

  1. J to J Buckles –

                              J to J Buckles

इसे J to J buckles क्यों कहा जाता है चित्र देखकर आप इसका आभास कर सकते हैं.  इसकी अवश्यकता तब पड़ती है जब किसी भी material को lift करते समय उसे adjust करना होता है. I to I Buckles और J to J buckles दोनों का कार्य समान है. चूँकि इसकी बनावट J shape में हैं इसलिए इसे J to J Buckles बोलते हैं.

  1. Hook Chook-

                                            Hook Chook

Hook Chook को pulling lifter भी कहाँ जाता है. इसका प्रयोग material को खीचने के लिए किया जाता है. एक side में wire rope आता है जिससे material को hold किया जाता और liver के सहायता से आसानी से material को खिंचा जाता है. चूँकि यह pull करने के कम आता है इसलिए इसे pulling lifter भी कहते हैं.

कई बार chain block से material को खिंचा जाने लगता है जो सरासर गलत है.उसे केवल vertical lifting के लिए ही प्रयोग किया जा सकता है.

  1. Plate Clamp

                                            Plate Clamp

Plate clamp को आप image में देखकर आसानी से पहचान सकते हैं. Horizontal plate clamp या vertical plate clamp इसके जरिये हम किसी भी plate को आसानी से lift कर सकते हैं.

  1. I Bolt-

                         I Bolt Buckles

चित्र में जैसा की आप देख पा रहे हैं. इसके आकार को देखकर इससे परिचित हुआ जा सकता है. I Bolt के नीचे वाले भाग में thread कस कर और ऊपर circle वाले भाग में sling को फंसा कर किसी भी material को lift करते हैं. इसका ज्यादातर प्रयोग motor को lift करने के लिए किया जाता है.

  1. Beam Clamp Lifter –

                         Beam Clamp

इसका प्रयोग ऐसे स्थान पर किया जाता है जहाँ material को उठाने के लिए space नहीं होता है, और वहाँ अन्य किसी lifting tools and tackles का प्रयोग नहीं कर पाते हैं तो ऐसे स्थान पर beam clamp lifter का प्रयोग करते हैं जैसाकि  आप चित्र में देख पा रहे हैं.

पहले beam clamp को लगाया गया है और फिर उसमें chain block लगा कर material को lift किया जा रहा है. यह इसलिए लगाया जाता है क्योंकि chain block के hook को सीधे हम beam में नहीं फंसा सकते.