Make Plan to Stop Workplace Violence

Violence in the workplace training –

     Preventing Workplace Violence | कार्य स्थल पर हिंसा से बचाव के तरीके 

अधिकतर लोग workplace violence को शारीरिक हिंसा मानते हैं और लेकिन यह केवल शारीरक हिंसा तक ही नहीं सीमित होता है. Workplace violence के अंतर्गत धमकी देना, किसी को गाली देना, किसी के साथ दुर्वव्हार करना या फिर किसी employees को torcher करना भी कार्यस्थल पर होने वाली हिंसा में गिना जाता है.

जहाँ तक law की बात है तो अभी तक इसकी कोई परिभाषा सटीक नहीं है और स्थिति के अनुसार इसको दिया गया या फिर लिखा  गया है. यह आमतौर पर होने वाली हिंसा और उत्पीड़न में शामिल है.

Domestic Violence Meaning in Hindi – घरेलू उत्पीड़न

Workplace Violence Example-

  1. कुछ workplace violence धमकी भरे व्यवहार पर आधारित होते हैं जैसे- मुट्ठी बाँध कर किसी को धमकाना, किसी भी प्रकार के सम्पति को नष्ट करना या फिर गुस्से में आकर वस्तुओं को फेंकना. यह सभी workplace violence के उदाहरण हैं.
  2. किसी को मौखिक रूप से गाली देना या फिर धमकी भरा किसी को कुछ लिखना. अगर यह नुकसान पहुँचाने के इरादे से किया गया है तो यह violence में गिना जायेगा.
  3. किसी को अशब्द कहना, किसी का अपमान करना या फिर किसी के लिए अपमानित भाषा का प्रयोग करना यह भी workplace violence में गिना जाता है. इसे verbal abuse violence भी कहते हैं.
  4. किसी को शारीरिक रूप से नुकसान पहुँचाना अर्थात किसी को मारना, ढकेलना, धक्का देना, मुक्का मरना या फिर किसी को लात मरना workplace violence होता है .

उपर्युक्त workplace violence example से आप समझ ही गए होंगे कि यह होता क्या है? Workplace पर किया जाने वाला किसी भी प्रकार का दुर्वव्हार violence में गिना जायेगा.

 Violence Definition –

यह violence of definition हमनें कार्य स्थल पर होने वाले दुर्वव्हार के आधार पर लिखा हूँ.

“ कार्यस्थल पर किया जाने वाला ऐसा दुर्वव्हार जिससे किसी व्यक्ति को शारीरिक या मानसिक रूप से क्षति पहुँचाता हो violence कहलाता है.” यह मौखित और लिखित दोनों रूप में हो सकता है.

जहाँ तक कुछ कुछ न्यायालयों में उत्पीडन को हिंसा के रूप में शामिल किया गया है. जबकि अन्य किसी भी तरह के harassments को अलग से define किया गया है. वैसे तो उत्पीड़न को किसी भी व्यवहार के रूप में माना जा सकता है यह न्यायालय के ऊपर निर्भर करता है.

अगर कोई किसी को नीचा दिखाता है, शर्मिंदा करता है, अपमानित करता है, परेशान करता है या चेतावनी देता है यह सभी violence की श्रेणी में आता है.

Violence in the Workplace Training –

                             Meaning of Violence in Hindi | हिंसा

Workplace violence होता है इसे रोकने के लिए सबसे सटीक तरीका यही होता है कि violence workplace training जितने भी employees काम कर रहे हैं उन्हें उपलब्ध कराया जाए. जिससे वह violence को समझे और उससे दूर रहें. उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि working site पर अगर वह violence सम्बंधित नियम को तोड़ते हैं तो organization के द्वारा किस तरह के दंड का प्रवधान तय किया गया है.

Violence को कार्यस्थल पर रोकने के लिए preventing workplace violence की training को उपलब्ध कराया जाए जो कार्यस्थल पर workplace violence को रोक सके और कार्य स्थल पर होने वाले injury, illness, property loss और damages पर पूर्ण विराम लगा सके.

1. New employees background completely check –

अगर आप चाहते हैं की कार्यस्थल पर violence को रोकना तो सबसे पहले किसी भी employees को job offer करने से पहले उसके background को भली-भांति जांचना आवश्यक होता है. इससे आसानी से पह पता चल जाता है कि जिसे आप ने नौकरी दिया है कहीं उसका हिंसक अतीत है या नहीं.

जाँच के दौरान अगर किसी भी प्रकार का पता चलता है तो उसे स्पष्टीकरण माँगे और यह सुनिश्चित करें कि जो स्पष्टीकरण उसके द्वारा दिया जा रहा है उसमें कितनी सच्चाई है.

अगर किसी employees का हाल ही में किसी भी प्रकार के violence से सम्बन्ध रहा है तो workplace violence को रोकने के लिए जो आप ने job offer किया है उसे वापस ले सकते हैं.

Safety Awareness Training या सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम

Importance of Safety Culture

2. Create Workplace Violence Policy and Inform Each Employee –

अगर कोई बार-बार किसी को धमकाता है, डराता है या यह परेशान करने वाला व्यवहार वह बार-बार करेगा. और इस तरह का व्यवहार अक्सर violence के लिए warning जैसा होता है. इसलिए इसे रोकने के लिए नीति को बनाना आवश्यक होता है. यह तब संभव होता है जब शिकायत करने के लिए टीम का गठन करते हैं और जैसे ही violence से सम्बंधित किसी भी प्रकार की शिकायत होती है तो उसके प्रति तुरंत action लेना आवश्यक होता है.

इस तरह के violence policy को बनाते समय managers, employees/workers और अधिकारीयों सहित सुविधा के प्रत्येक स्तर को शामिल करना महत्वपूर्ण होता है.

यह प्रभावित तभी होता है जब organization में काम करने वाले प्रत्येक employees को इसके बारे में पता हो. इसलिए violence in workplace training दिया जाता है इस violence policy के बारे में सभी को सूचित किया जाता है.

3.Training and Awareness are Most Importance Key Factors in Workplace Violence Prevention –

Organization के अन्दर अगर किसी भी प्रकार का violence होता है तो उसे कैसे जवाब दिया जाए. इससे सम्बंधित training session का आयोजन करने के लिए समय निकालें ताकि वहाँ कार्य करने वाले employees यह जान सके कि अगर violence हो रहा है तो उसके प्रति उनकी प्रतिक्रया क्या होगी अर्थात उन्हें किस तरह की प्रतिक्रिया देनी है.

जो training आप करेगें उन्हें यह सिखाएगा की अगर किसी भी तरह का violence सम्बंधित खतरा दिख रहा है या employees ने किसी भी प्रकार के खतरे को पहचाना है तो उन्हें क्या करना चाहिए.

इससे सबसे बड़ा फायदा यह होता है की निर्णायक करवाई जल्दी से की जाती है और violence को समय से पहले रोक दिया जाता है.  इसका दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि team के जो सदस्य होते हैं नियंत्रित और जिम्मेदार तरीके से जवाब देने के लिए आवश्यक आत्मविश्वास आ जाता है.

4. Develop an effective line of communication –

किसी organization के अन्दर कार्य हो रहा है तो जो effective communication होता है यह preventive work place violence को रोकने का सबसे अच्छा हथियार होता है. यदि आप के employees के पास communication का साधन है तो वह संभावित हिंसा के सुरुआती संकेतों को समझने, पहचानने और report करने में मदद कर सकता है.

यदि communication का साधन प्रदान किया जाता है तो उन्हें संवाद करने के लिए उन्हें अधिक जिम्मेदारी महसूस होती है. इससे employees को यह आभास होता है कि उनकी शिकायतों को सुना जा रहा है और उसका ठीक ढंग से समाधान भी किया जा रहा है और जवाब भी दिया जा रहा है.

5. Develop and implement a strict anti-violence policy –

Workplace पर violence को रोकने के लिए सबसे पहले कठोर नीतियों बनाना होता है और इसे बनाने के पश्चात् सुचारू रूप से लागु करना होता है. यह हिंसक व्यवहार को रोकने में और खतरे के अन्य लक्षणों रोकने में काफी मददगार साबित हो सकता है.

अगर आप ने ठीक से नीति बनाया और उसे लागू कर दिया तो जितने भी मनबढ़ किस्म के कर्मचारी होते हैं तो इस anti-violence के डर से अपने व्यवहार में परिवर्तन लेट हैं और उसे धीरे-धीरे ही सही उसे दूर करने के लिए प्रयासरत दिखते हैं और इस तरह की policy पक्षपात के लिए किसी भी तह का कोई जगह नहीं छोड़ती है.

इस policy को बनाते समय उल्लघंन करने वाले के लिए दंड का प्रवधान रखना चाहिए और अगर कोई violence के policy को तोड़ता है तो बिना किसी तरह का भेदभाव किये उसे दंड दिया जाना चाहिए जिससे अन्य कर्मचारियों के बीच यह संदेश पहुंचे और वह भी दंड के उस policy का अनुसरण करे.

सभी employees से यह जान लेना चाहिए की वह anti-violence policy को जानते हैं या नहीं, क्योंकि बहुत बार दंड देते समय कहते हैं कि उन्हें इस तरह के policy के बारे में ना तो बताया गया था और न ही जानकारी थी.

अगर आप policy को लेकर strict है तो यह आप के company के अन्दर violence रोकने में काफी अहम् भूमिका निभाएगा.

6.Identify company risk factor that could lead to violence –

सबसे पहले अपने workplace पर उन areas को पहचानने की अवश्यकता होती है जो संभावित जोखिम कारक है और उन्ही कारको के कारण कार्यस्थल पर हिंसा का कारण बन सकता है. यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब कार्य के दौरान कर्मचरियों के आपसी मतभेद होते हैं और इसी को लेकर वह कभी भी आक्रामक हो सकते हैं.

अतः यह आवश्यक होता है violence के risk factor का आंकनल करें और जो भी कारक निकल कर आते हैं उन्हें दूर करने का प्रभावी प्रयास करें.  इसलिए आवश्यकता होता है कि report करने की policy को समय-समय पर आंकलन की जाए, जिससे आप violence को सही समय पर रोकने में सहयोग कर सके.

7. Keeping the minimum amount of assets at your facility –

अगर हिंसा की घटनाओं पर नज़र दौडाएं तो 85% घटनाएँ रूपये, पैसे से सम्बंधित होता है. जहाँ अपराधी का वयवसाय या उसके कर्मचारियों से कोई भी ज्ञात समबन्ध नहीं होता है. इसलिए अपने पास जो property है अर्थात रूपये –पैसे हैं उसे कम रखें. महँगे गहने इत्यादि अधिक धारण ना करें.

हाथ में नगदी कम रखें और हो सके तो इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली का प्रयोग करें. हमेशा सतर्क रहे और अजीब व्यवहार करने वाले employee पर विशेष ध्यान रखें.

8. After an incident or near miss perform a analysis –

जब भी working site पर किसी भी तरह का accident/incident होता है तो उसका विश्लेषण करना आवश्यकता होता है, जिससे यह पता किया जा सके की कहीं घटना का सम्बन्ध violence से तो नहीं है. यह जानने के लिए निमं बिन्दुओं से सम्बंधित प्रश्न की अवश्यकता होती है.

  • Accident/incident से कौन और क्या प्रभावित हुआ?
  • जो घटना हुई क्या उसके संकेत या चेतावनी पहले से मौजूद थे?
  • क्या कार्य के दौरान मौजूद प्रक्रियाओं और संचालन का पालन किया गया और यही नहीं तो क्यों?
  • क्या कार्य करने वाले employees को पर्याप्त रूप से training दी गयी थी?
  • किस तरह की नयी प्रक्रियाएं और संचालन कर्मचारियों को सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिए किया जा सकता है?

अगर उपर्युक्त प्रश्नों का जवाब आप ढूंढें और अगर स्थिति को और बेहतर बनाने के लिए जो योजनाये मौजूद हैं उसे संशोधित करने की अगर आवश्यकता पड़ती है तो करें. यह आप के कार्यस्थल पर हिंसा को रोकने में अहम् भूमिका निभा सकता है.

9. Encourage everyone to report all violence incident –

कार्यस्थल पर होने वाले हिंसा को रोकने का सबसे अच्छा तरीका यह होता की आप अपने employees के बीच विश्वास स्थापित करें. इसका सबसे अच्छा तरीका यह होता है कि अगर कोई कर्मचारी हिंसा को सूचित करता गई तो यह गोपनीय होना चाहिए और इसके प्रति प्रत्येक को आश्वस्त करना होता है कि अगर आप हिंसा को सूचित करते हैं तो आप इसके प्रति जवाबदेही नहीं होंगे. और इस पर खरा उतरने की अवश्यकता होती है.

 10. Manage visitors and provide security monitoring –

अगर आप को violence को लेकर कहीं से सुचना मिलती है या उसकी आशंका दिखती है तो सबसे पहले security को tight करने की आवश्यकता होती है, इसके अतिरिक्त जितने भी visitors आते हैं उन पर निगरानी रखने की अवश्यकता होती है. इसके लिए जो सुरक्षा गार्ड होते हैं उन्हें शांति स्थल पर या फिर पार्किंग इत्यादि स्थानों पर patrolling करने की अवश्यकता होती है.

उन स्थानों पर अतिरिक्त सुरक्षा की अवश्यकता होती है, जहाँ लोग अकेले काम करते हैं और ऐसे स्थान जहाँ पैसे या फिर शराब से जुडी सेवाएँ प्रदान की जाती है.

पार्किंग के अन्दर जो भी काम कर रहे होते हैं उन्हें समय-समय पर खबर लेते रहें, अकेले होने पर वह आसानी से violence का शिकार बन जाते हैं. हिंसा को रोकने का सबसे अच्छा तरीका होता है कि ऐसे स्थानों से कैमरे से निगरानी करें जहाँ आप को हिंसा की सम्भावना अधिक लगती है. यह स्थान पार्किंग/ शौचालय या फिर शांत area हो सकता है.