July 27, 2021
Safety Awareness Uncategorized

When More Accident Happen at Work Place

When More Accident Happen at Work Place

जब आप किसी company में काम कर रहे होते है तो अचानक से work site पर accident बढ़ने लगते हैं तो safety department चिंतित हो जाता है. चूंकि सुरक्षा की ज़िम्मेदारी HSE  Department के पास होता है ऐसे में उनका चिंतित होना स्वाभाविक होता है.

Accident at Construction site 

वैसे तो कंपनी मे छोटे accident की भी जाँच करने का प्रावधान है. लेकिन HSE  Department की तरफ से visit करने वाला safety steward इसे छोटा accident समझ का ignore कर देता है, जो आगे चल यही छोटी दुर्घटना उसके लिए सर दर्द बन जात है.

ऐसे में safety वाले को चाहिए की accident को seriously ले,चाहे वह accident छोटा हो या बड़ा.तब कहीं जाकर अपने site पर होने वाले दुर्घटनाओ पर विराम लगाया जा सकता है.

लिंक पर क्लिक कर इसे भी पढ़ें-

Types of Accident,Definition in Hindi II दुर्घटना के प्रकार

Hazards of Confined Space या Confined Space के संभावित खतरे

Follow the Below Points-

नीचे कुछ points दिये गए हैं जिसमे कुछ सवाल है जिसका जवाब सभी को मिल कर ढूँढना चाहिए जिससे की accident को control किया जा सके.बिन्दु निम्नलिखित हैं.

1.जब site पर हर रोज छोटे-मोटे accident होने लगे तो यह समझ लेना चाहिए, supervision ठीक ढंग से नहीं हो रहा है. Supervision ठीक ढंग से क्यों नहीं हो रहा है,इस प्रश्न का जवाब जितना जल्दी हो सके ढूँढने का प्रयास करना चाहिए.

2.खुद को भी observe  कर के देखें कि जिस designation  पर आप है और मिले काम को honestly पूरा कर रहे है या नहीं.

3.TBT  या safety  meeting का conduction , competent person के द्वारा किया जा रहा है या नहीं.

4.Safety से संबन्धित जितने भी employee  हैं,क्या समय-समय पर site visit करते हैं या नहीं, अगर नहीं करते हैं तो उसका कारण क्या है.उसे पता करने का हरसंभव प्रयास करें.

5.Internal Audit समय-समय पर किया जाते हैं या नहीं.अगर किया जाता है तो workers के द्वारा seriously लिया जाता है नहीं?अगर नहीं लिया जाता है तो उसका कारण क्या है.

6.Work  Place पर जो supervisor है कहीं ऐसा तो नहीं urgent work कह कर, जल्दी काम के लिए workers पर दबाव तो नहीं बना रहा.अगर ऐसा है तो वह गलत है और उसे रोकने का जितना जल्दी हो सके कोशिश करें.

7.Accident पर basically  ध्यान दें और यह जानने कि कोशिश करें कि कौन से क्षेत्र मे सबसे ज्याद दुर्घटना हो रहा है उसके root causes को पता करने की कोशिशों मे लगे रहें.

8.Company मे यह आप को देखना होता है कि management द्वारा workers को समय-समय पर tool tackles दिया जा रहा है या नहीं अगर नहीं तो क्यों नहीं? यह करना आप की responsibility होती है.

9.PPE’S को लेकर workers कितने जागरुक हैं यह देखना ज़रूरी होता है.अगर आप को लगता है की workers, Personal Protective  Equipment को लेकर ज्याद serious  नहीं है तो safety manager को अपने department से इसका जवाब लेना चाहिए और उसे दूर करने के लिए तत्परता दिखानी चाहिए.

10.Safety Manager को चाहिए की अपने department से whole day work activity को जाने और उसका report घर जाने से पहले सौपने के लिए बोले. अगर कोई employee आनाकानी करता है तो उसे सवाल पूछे जवाब न मिलने की पर उसके विरुद्ध कारवाही कर.

अगर ऊपर दिये points मे दिये सवाल का जवाब ढूंढ लेते हैं और उसका अनुसरण करते हैं तो आप काफी हद तक accident को control में ला सकते हैं और वहाँ पर जितने भी employee काम कर रहे हैं उन्हे सुरक्षित रख सकते हैं.

इसे भी जाने-

Related posts

Safety engineering या safety officer क्यों बनें ?

Wajid Ali

Vehicle Entry Permit and control measure before entry

Wajid Ali

Types of Fire in Hindi या Fire Kya Hai

Wajid Ali

Leave a Comment