Work Permit System | Work Permit System Kya Hai

    4
    10

    Work Permit Definition in Hindi –

    “Work permit एक written record होता है जो किसी company के अंदर खास काम के साथ सीमित समय के लिए authorized person के द्वारा जारी(issue ) किया जाता है.”

    Work Permit Meaning in Hindi – कार्य अनुमति 

    Benefit of Work Permit System-

    Work Permit System देने के अनेकों फायदे हैं और इसे work permit system points के माध्यम से समझते हैं –

    • Work Permit System का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि वह working site पर risk को reduce करता है और workers/employees को होने वाले छोटे और बड़े खतरों से बचाता है.
    • Construction site/working site पर जितने भी high risk activities उन्हे समझ कर control करने में सहायता प्रदान करता है.
    • इससे इस बात की पुष्टि हो जाती है कि इस कार्य को केवल competent person ही संचालित करेगा, अगर किसी कार्य को competent person के द्वारा संचालित किया जाता है तो दुर्घटना की संभवना काफी हद तक कम हो जाती है.
    • वर्क पर्मिट सिस्टम देते समय यह तय हो जाता है कि जिस कार्य के लिए permit दिया जा रहा है वह कितने समय तक संचालित होगा. क्योकि कुछ कार्य ऐसे होते हैं जिसमें risk का level high होता है और ऐसे स्थानों पर कार्य की समय अवधि कम होती है.
    • HSE Department के पास एक record हो जाता है जो accident investigation के दौरान, investigate करने में काफी सहयोग करता है.
    • वर्क पर्मिट के दौरान यह पुष्टि हो जाती है कि workers काम करने जा रहे हैं उन्हे proper protection दिया गया है या नहीं.
    • Permit to work कार्य को अच्छे से समझने में मदद करता है तथा कमी को दूर कर employees के moral value को बढ़ाता है.
    • इसके माध्यम से कार्य के हर अच्छे-बुरे खूबी को पहचाना जाता है और जहाँ भी improvement की आवश्यकता होती है वहाँ कार्य को बेहतर बनाने का प्रयास किया जाता है.
    • Work Permit System के माध्यम से कार्य स्थल के जो culture होता है उसे उत्कृष्ट बनाया जाता है.
    • पर्मिट टु वर्क  का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि काम के गलती को पता किया जाता है और human error के जहाँ भी संभावना बनती है उसमें improve किया जाता है.
    • Company में यह प्रावधान होता है कि अगर कोई बार-बार जानबूझ कर गलती करता है तो दंड के तौर पर fines लगाया जाता है लेकिन work permit procedure करते हैं तो गलती को पकड़ते हैं और उसे दूर कर देते हैं जिससे fines की संभावना दिखती है वह खत्म हो जाती है.
    • जब work permit के दौरान work permit system for safety को अनुसरण करने के लिए कहा जाता है तो दुर्घटना कम होती है और company को कम बीमा प्रीमियम जामा करना होता है. Company को इससे बहुत बड़ा benefit होता है.
    • जिस company के अंदर वर्क पर्मिट सिस्टम का प्रावधान होता है तो कार्य शुरू के पहले जो permit दिया जाता है. यह सुरक्षा के हर पैमाने को जाँचने के पश्चात दिया जाता है और ऐसे में risk के level को काफी हद तक reduce कर दिया जाता है जिससे दुर्घटना काफी कम हो जाता है. और ऐसे में employee  और client के बीच मैसेज अच्छा जाता है. जिससे  plant/company का reputation अच्छा हो जाता है  और contractor को आगे contract मिलने में समस्या नहीं होती है.  

    Work Permit System  Procedure-

    अगर किसी भी working site पर अगर कोई accident होता है तो ऐसे में permit to work  देने वाला व्यक्ति से भी पूछ-ताछ होती है.ऐसे में वह किसी भी प्रकार के risk को अपने कंधे पर नहीं लेता है.इसलिए permit देने वाला authorized person निम्नलिखित बिन्दुओं को जाँच कर लेता है फिर उसके बाद permit पर signature करता है.

    1.सबसे पहले तो authorized person होता है उसे working  place पर जाना चाहिए.

    2.Working site पर कौन-कौन सा कार्य होने को है इसके बारे में भली-भाँति जाँच ले.

    3.फिर authorized person को risk assessment या JSA (Job Safety Analysis)  बनाकर वहाँ दिख रहे छोटे-बड़े hazards को identify  कर लेना चाहिए..

    4.उसके बाद जिस कार्य के लिये permit देनी है वहाँ कौन-कौन से worker काम करने को हैं उन्हे इकट्ठा करना होता है.

    5.जब सभी workers इकट्ठे हो जाएँ तो उन्हे उस कार्य से संबधित TBT देना होता है अर्थात उससे संबन्धित होने वाले खतरों के बारे में authorized person के द्वारा अवगत कराया जाता है.

    6.जो कार्य होने को है उसमें जो खतरे हैं उससे बचने के लिए किस तरह PPE Kit का प्रयोग करना है? यह authorize person के द्वारा workers से सवाल ज़रूर पूछा जाना चाहिए.

    7.अगर workers को इसके बारे में पता नहीं हैं तो उसे विस्तृत रूप से बतायें,तब तक जब तक authorized person  उनके जवाब से संतुष्ट न हो जाएँ.

    8.फिर कार्य से संबन्धित correct PPE ‘S को check करें और उसे किस तरह से पहनना है इसके बारे में प्रश्न पूछे और satisfaction की स्थिति में बातों को आगे बढ़ाएँ.

    9.जो supervisor वहाँ काम के लिए रखा गया है अगर उस पर कार्य को लेकर doubt हो तो कार्य के safe procedure के बारें में पूछें और permit issue करने वाला authorized  person खुद satisfy हो लें.

    10.और उपर्युक्त सभी points जब complete हो जाए तो authorized person को work permit पर sigh करना चाहिए.

    Types of Permit-

    वर्क पर्मिट कितने प्रकार के होते हैं, permit का नाम आते ही यह प्रश्न दिमाग में ज़रूर घूमता है. वैसे तो work permit types  कई प्रकार के होते हैं लेकिन mostly permit को 3 part में categories किया है.

    1.Hot Work Permit-

    Working site/plant/company  के अंदर होने वाले  ऐसा कार्य जहाँ आग लगने की संभावना हो ऐसे कार्य को hot work कहते हैं. ऐसे स्थान पर कार्य करने से पहले hot work permit का लेना अनिवार्य होता है. बिना permit के कार्य करने की अनुमति नहीं होती है.

    Example -Welding , Gas Cutting, Grinding  etc.

    Hot Permit Paper Color –

    Hot permit के पेपर का color हमेशा लाल होता है जिसे दूर से देख कर भी पहचना जा सकता है.

    Cold Wok Permit-

    ऐसा कार्य जहाँ करने के दौरान बहुत कम risk होता है लेकिन ऐसे स्थान पर भी काम शुरू करने से पहले पर्मिट लेनें की आवश्यकता होती है.

    Example – Housekeeping,, Washing , Excavation, Painting  etc.

    Note-

    Excavation और painting को हर समय cold permit में नहीं रखते हैं.यह पूरी तरह से work place के ऊपर निर्भर रहता है.जैसे अगर हम refinery या gases area में काम करते हैं वहाँ पर excavation के दौरान hot permit लेना ज़रूरी होता है.

    Painting  में अगर हम brush की जगह spray machine का प्रयोग करते हैं तो वहाँ भी hot work permit लेना ज़रूरी होता है.

    Cold Permit paper Color-

    Cold  permit के paper color की बात करें तो यह blue होता है.

    High Risk Work Permit-

    ऐसा काम जहाँ पर खतरे की अत्यधिक संभावना रहती है उसे high risk में categories किया गया है.

    Example – Heavy lifting, (crane operation),stacking, mining ,radiology etc.

    High Risk Work Paper Color-

    High risk permit के paper का color orange होता है. इस work permit के paper को भी आसानी से पहचाना जा सकता है.

    Other Work permit 

    उपर्युक्त तीनों permit के अलावा और भी permit होता है जिसका यहाँ विस्तृत रूप से चर्चा करते है और बिना निम्नलिखित  permit system के company के अंदर कार्य करना सख्ती से मना होता है

    Confined Space Entry permit-

    एक ऐसा permit जो खास confined space  के अंदर सभी तरह से work को करने के लिये दिया जाता है.

    जैसे-Storage Tank, Pipe line  Trenches, Sewers etc.

    Electrical Isolation Permit-

    Electrical से संबन्धित जितने भी work होते हैं उसे करने के लिये जो permit दिया जाता है उसे electrical isolation permit कहा जाता है.जैसे-Removing fuse and locking of an electrical isolate switch ,uncontrolled realized energy, key safe and lock boxes etc.

    Excavation work permit-

    वैसे तो company के अंदर जब excavation होने को होता है तो अलग से separate excavation  permit लेते हैं. लेकिन कभी-कभी यह cold permit में आता है और कभी hot permit में.  यह area के ऊपर निर्भर करता है कि कौन से स्थान पर excavation होना है और वहाँ किस तरह के  खतरे हैं .यह manually और mechanism  दोनों method से किया जाता है.

    Vehicle Entry Work Permit-

    जब कोई भी vehicle company के अंदर entry करती है तो उसे अंदर जाने से पहले permit लेने की आवश्यकता होती है. जिसे vehicle entry permit के नाम से जाना जाता है.

    Radiation Work Permit-

    यह बहुत danger work होता है,इसलिए radiation  permit देने से पहले जो workers होता है उसके PPE की जाँच करना होता है और अलग से कौन से PPE देना होता है यह देखना ज़रूरी होता है. इसके साथ Radiation work करने वाले person को respiratory protection देना तथा उसके साथ special instruction add करना जरूरी होता है.

    Example -X-ray for quality checker

    Validity Of Permit-

    Working site  पर जितने भी कार्य होते है और उसके लिये जो permit issue किए जाते है, उसकी validity होती है और सभी permit की अलग-अलग होती है.

    1.Hot Work Permit-

    इसके लिये जो permit issue किया जाता है उसकी validity 24 घंटे की होती है, लेकिन इस बात का पूर्णत ध्यान देना होता हैकि work place या काम करने का procedure तो change नहीं हुआ है.अगर ऐसी स्थिति है तो पुनः permit issue करना अनिवार्य होता है.

    2.Cold Work Permit-

    Cold permit की validity 3 से 7 दिन की होती है लेकिन इसमें भी स्थान बदलने की स्थिति में पुनः permit issue करना अनिवार्य है.

    3.High Risk Work Permit-

    इस काम में इतना risk होता है कि एक काम के लिये बस एक ही permit लेते हैं.अगर उसी स्थान पर दूसरा lifting या कोई और जिसमें खतरे कि संभावना अधिक होता है तो पुनः separate work permit लिया जाता है.

    Work Permit Format-

    जहाँ तक  permit format कि बात है यह अलग-अलग कंपनी के लिये अलग-अलग होता है और risk के अनुसार कार्य स्थल पर खतरे के अनुसार work permit format में point mention  किया जाता है. लेकिन paper का color सभी company के लिये same ही होता है.

     

    अगर यह लेख आप को पसंद आए तो अपने दोस्तों को share करना न भूलें.जिससे की आप के दोस्तों को भी permit के बारे में पूर्ण जानकारी हो जाए, और working site पर कार्य के दौरान permit से संबन्धित किसी भी प्रकार का confusion न रहे.

     

    इसे भी जाने-

    Personal Fall Arrest System (PFAS)

    Work at Height Definition,Hazards,Control Measure at Construction Site in Hindi

    Types of Hazards in Hindi | संभावित खतरों के प्रकार

    Lock Out Tag Out System,procedure,safety in Hindi

    Personal Protective Equipment II स्वयं सुरक्षा उपकरण

    Comments are closed.