Erection

Erection

Erection Definition-

“किसी भी fabricated material को drawing के अनुसार जोड़ने की जो प्रक्रिया होती है वह erection कहलाता है”

Erection work हमेशा height पर होता है और इसका संचालन हमेशा दिन में किया जाता है क्योंकि दिन में illumination की कमी नहीं होती है और प्रकाश के अभाव में कभी भी erection के work का संचालन नहीं किया जा सकता है.

Construction site पर कोई भी कार्य करते हैं तो खतरे की संभावना रहती है और उन खतरों से बचने के लिए management की ज़िम्मेदारी होती है की site पर कार्य करने वाले workers को safety precaution उपलब्ध कराये.

इसे भी जाने-

Tool Box Talk II TBT

Hazards and Safety Precaution in Grinding Machine Job

तो आइये erection से संबन्धित hazards को जानते हैं-

Hazards in Erection Job –

Erection Example

1.Erection का जो प्रमुख संभावित खतरा यह होता है कि कोई व्यक्ति ऊपर से नीचे की तरफ गिर सकता है क्योंकि erection का कार्य हमेशा height पर होता है.

2.Erection के कार्य के दौरान दूसरा सबसे बड़ा खतरा किसी भी material के ऊपर से नीचे गिरने की संभावना रहती है.

3.जब material को improper fabrication किया जाता है तो ऐसे में उसे erection के दौरान गिरने की संभावना बनी रहती है.

4.Erection के दौरान अगर कार्य को ठीक ढंग से supervision न किया जाए तो ऐसे में खतरे की संभावना हमेशा बनी रहती है.

5.अगर erection के दौरान crane या machine का operator unqualified है तो ऐसे में खतरे की संभावना की संभावना हर समय बनी रहती है.

6.अगर काम को approach न किया गया तो खतरे की संभावना बनी रहती है.

7.Improper Erection भी injury का कारण बन सकता है.

8.Erection कार्य के दौरान अगर कोई व्यक्ति physically, mentally या medically  रूप से unfit है तो वह दुर्घटना का कारण बन सकता है.

उपर्युक्त सभी points erection job का दौरान होने वाले संभावित खतरों को व्यक्त कर रहा है अब आइए इस खतरों से बचने के लिए safety बिन्दुओं को समझने का प्रयास करते हैं.

इसे भी पढ़ें-

‘5 Es’ in Hindi or ‘5 Es’ for Accident Prevention

Personal Protective Equipment (PPE) II स्वयं सुरक्षा उपकरण

Safety in Erection Job-

Erection Pic-3

1.जब erection का कार्य होने जा रहा हो तो  ऐसे में एक standard scaffolding, ladder का होना आवश्यक होता है और उस scaffolding और ladder पर कम करने के लिए full body harness के साथ fall arrester का होना आवश्यक होता है.

जब व्यक्ति erection का work करने के लिए ऊपर जा रहा हो तो यह देख लेना चाहिए की उसके पास full body harness के साथ fall arrester है या नहीं और उसकी condition ठीक है या नहीं.

2.जिस scaffolding पर erection का कार्य हो रहा हो उसको weekly, competent person के द्वारा check करा लेना चाहिए, जिससे scaffolding collapse होने की जो संभावना बनती है वह खत्म हो सके.

3. जितने भी employee को height पर काम करने के लिए भेज रहे हैं तो सबसे पहले उनके physical, mental और medical ability को जाँच लेगें, अगर तीनों सही है तो ऐसे में erection के काम करने की अनुमति देते हैं.अगर तीनों में से कोई भी एक गड़बड़ है तो ऐसे मे काम करने की अनुमति नहीं देंगे.

4.जितने भी workers को height पर काम करने के लिए safety belt और fall arrester दिया गया है उसका trail workers को ऊपर जाने से पहले ले लेते हैं और जब workers trail में पास हो जाता है फिर उसे safety harness के साथ ऊपर जाने की अनुमति देते हैं.

5.Workers ऊपर जिस device का प्रयोग करने के लिए ले जा रहे हैं वह देख लेना चाहिए कि work के अनुसार suitable device है या नहीं और इसके साथ यह भी देख लेना चाहिए कि जितने भी equipment का प्रोयोग होने जा रहा है उसकी condition अच्छा है या नहीं.

6.Workers  को जिस platform  पर काम करने के लिए भेज रहे हैं तो पहले यह सुनिश्चित कर लें वहाँ proper barricading किया गया है या नहीं.Scaffolding के barricading का मानक होता है जो देखना ज़रूरी होता है. इसमें mid rail 600 mm पर होता है और top rail 1200 mm पर होता है.

7.यह sure हो लें कि erection का काम करने के दौरान जिस equipment कि ज़रूरत पड़ रही है वह सही समय पर delivered किया जा रहा है या नहीं.सही समय पर न उपलब्ध होने का कारण जाने और उसे जितना जल्दी हो सके दूर करने का प्रयास करें.जिससे बिना equipment के होने वाले खतरों पर विराम लगाया जा सके.

8.जब height पर कार्य हो रहा हो तो ऐसे में ladder का प्रयोग किया जाता है.लेकिन इसका प्रयोग करते समय सावधानी बरतने की ज़रूरत होती है. जैसेकि जब welding,, grinding या drilling का work हो रहा हो तो ऐसे समय में ladder का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए अर्थात ladder पर खड़ा होकर welding,, gas cutting या drilling का work नहीं करना चाहिए क्योकि यह heavy कार्य में आता और ladder पर खड़ा होकर करना मना होता है.

9.Ladder का प्रयोग करते समय हमेशा single व्यक्ति को खड़ा होकर कार्य करने की अनुमति होती है.

10.जब erection का work किया जा रहा तो lifting करने से पहले जो rigger किसी भी material को बाँध रहा है तो यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए की वह certified rigger है या नहीं.Certified rigger होने पर ही उसे material को बांधने की अनुमति देंगे अन्यथा खतरे की संभावना बनी रहेगी.

11.Erection  कार्य शुरू होने से पहले training program का organize किया जाना चाहिए.जिससे fall from height जैसे खतरों पर विराम लगाया जा सके.इसके अलावा किसी भी प्रकार के height work का संचालन करने से पहले training program का conduct कराना ज़रूरी होता है जिससे height से गिरने की संभावना को खत्म किया जा सके.

12.जब height पर कार्य हो रहा हो तो उस देख लेना चाहिए जो worker काम करने के लिए ऊपर जा रहे हैं उसके पास कार्य के दौरान tools को बांधने के लिए equipment है या नहीं.क्योंकि कार्य के दौरान tools गिरने पर नीचे कार्य कर रहे crew को चोटिल होने की संभावना रहती है.

इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति गिरे हुये tools को लाने के लिए बार-बार ऊपर नीचे होता है ऐसे में fall from height की संभावना बनती है.इसलिए tools को बांधने के लिए tools tie belt का ले जाना आवश्यक होता है.

13.जितने भी workers height पर कार्य करने के लिए जा रहे हैं उनके पास देख लेना चाहिए कि tool bag  या tool box  उपलब्ध है या नहीं. जब तक टूल बैग उपलब्ध न हो जाए तब तक ऊपर जाने कि अनुमति न दें.

Tool bag  न होने कि स्थिति में workers अपने सभी आवश्यक equipment को साथ नहीं ले जा सकता है.जिससे उसे बार- बार necessary equipment को लाने के लिए नीचे आना पड़ सकता है जिससे से खतरे कि संभावना बनी रह सकती है.

14.Erection का work करते समय अगर tool bag नहीं उपलब्ध है सभी tools platform  पर बिखरे रहेंगे जिससे tripping संबन्धित hazards की संभावना रहती है. इसलिए जब tool बैग लेकर के कर जाएंगे तो equipment tool bag में रहेगा और बिखरने के पश्चात जो गिरने की संभावना रहेगी वह खत्म हो जाएगी.  

अगर यह पोस्ट आप को पसंद आए तो इसे शेयर करना न भूलें तथा इसे असंतुष्ट हो तो कमेंट दें हम और बेहतर करने की कोशिश करेंगे.

इसे भी पढ़ें-

Risk Assessment in Hindi I Risk Assessment कैसे बनाते हैं?

Hazard Identification and Risk Assessment(HIRA) in Hindi । संभावित खतरों की पहचान और उसका Risk Assessment.

Safe Working Distance From Over Head Power Lines in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *