Hierarchy of Hazards and Risk Control

Hierarchy of Hazards and Risk Control in Hindi-

Hierarchy of Hazards

जब किसी भी working site पर कार्य हो रहा हो तो management की responsibility होती है की वह संभावित खतरों को भाँप कर hierarchy of hazards के माध्यम से उसे दूर करने की कोशिश करे और को कार्य के दौरान safe environment उपलब्ध कराये जिससे की workers दुर्घटना का शिकार न हो सके.

जो management site पर काम करते हैं उन्हे अच्छी तरह पता होता है कि hierarchy of hazards के माध्यम से हम किसी भी hazard को आसानी से control कर सकते हैं उसके steps को follow करते हुये और satiable measure precaution को apply करते हुये.

Best Way to Control Hazards in the Work Place-

किसी भी तरह का hazards होता है उसे खत्म करने के लिए precaution measure लेते हैं या hazards को removeकर risk के level को कम कर देते हैं.Hierarchy of Hazard यह तय करता है कि hazard से बचने के लिए जो precaution लेंगे उसका level और step क्या होगा.

तो आइये Hierarchy of Hazards को step by step समझने कि कोशिश करते हैं.

1.Eliminate Hazards

Risk के level को कम करने के लिए working site पर जितने भी hazards होते हैं उन्हे सबसे पहले remove करते हैं जिससे कि जो संभावित खतरेsite पर दिख रहे हैं वह पूर्ण रूप से खत्म हो जाये.

अर्थात दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि अपने देखने में risk का level शून्य कर द्देते हैं.

Example –

Working site पर manual handling किया जा रहा हो ऐसे में संभव हो सके तो manual handling न करा कर mechanism handling कराते हैं ऐसे में हम देखते हैं कि जो risk का level है वह शून्य हो गया.

जो workers handling का काम कर रहे हैं उन्हे back pain(agronomical hazards), crushes या physical injury  कि जो संभावना है पर पूर्ण रूप से control पा लेते हैं.

Manual handling के दौरान slipping और tripping के भी chance होते हैं, handling के लिए fork lift का प्रयोग कर उस होने वाले खतरे कि संभावना पर भी विराम लगा देते हैं.

2.Substitute the Hazard-

Working site पर पहली प्राथमिकता होती है की hazards को पूरी तरह से खत्म किया जाये अगर खत्म होने की संभावना नहीं दिख रही है तो hierarchy hazards के माध्यम से of risk के level कम करने के लिए प्रयासरत होना चाहिए.

Example –

मान लीजिये की कोई working place है जहाँ material handling का काम होने है अगर manual handling करते हैं तो accident की संभावना ज्यादा बनती है लेकिन mechanism handling के लिए proper place न होने के कारण वहाँ manual handling ही हर हाल में कराया जाना है.

ऐसे में work शुरू होने से पहले जितने भी potential hazards दिख रहे हैं उसे दूर करने का प्रयास करेंगे अर्थात manual handling करते समय रास्ते को proper साफ रखे.व्यवधान उत्पन्न करने वाला किसी भी प्रकार का material रास्ते में न रखा है.

अगर surface गीला हो तो उसे सुखाएँ या सूखने के पश्चात ही material handling करें तथा floor पर oil, grease आदि गिरा हो तो उसे साफ कराये बिना कभी भी manual handling की अनुमति न दें.

अर्थात

“ जहाँ manual handling होना है वहाँ पर proper housekeeping होना अनिवार्य होता है.”

Types of Hazards in Hindi | संभावित खतरों के प्रकार


3.Engineering Control-

Engineering Control पूरी तरह से जो hazards के source हैं उस पर focus करता है जो generally खतरों के संपर्क में आने वाले employee के ऊपर होता है. Engineering control का जो basic concept यह होता है कि कार्य को इस तरह से design किया जाये कि जितना हो सके hazards को eliminate किया जाये और व्यक्ति और खतरों के बीच होने वाले संपर्क को जितना हो सके कम किया जा जाये

Note –Engineering Control के लिए कोई ज़रूरी नहीं कि हमेशा engineer की आवश्यकता पड़े.

Example –

मान लीजिये कि grinding का work होने जा रहा है तो कार्य की अनुमति देने से पहले यह देखना ज़रूरी होता है की grinding machine के ऊपर proper wheel guard लगा है या नहीं तथा मशीन के ऊपर competent person के द्वारा जाँच कर sticker लगा है या नहीं और  grinding machine को ELCB के साथ जोड़ा गया है या नहीं कि accident के समय यह auto cut हो जाये.

ऐसे ही अगर mechanism  handling होने जा रहा है वो भी forklift के माध्यम से यह देखेंगे कि forklift में किसी भी तरह का technical fault तो नहीं और जो व्यक्ति उसको drive करने के लिए जा रहा है वह driving में expert है या नहीं अर्थात उसके पास forklift चलाने का अनुभव है या नहीं.

4.Administrative Control-

Administrative Controlयानि management control एक work procedure है जो एक risk को कम करने के लिए design किया गया है.इसमें हम worker को training देते हैं, risk assessment करते हैं permit to work के बारे में जानकारी देते हैं.और किसी भी कार्य को safety से करने का विकल्प तलाशते है और ढूंढ कर नियम बनाते हैं और implement करते हैं.

Example-

जैसे अगर किसी working site पर welding का काम होने जा रहा है तो वहाँ proper housekeeping है या नहीं, कार्य करने वाले workers को proper training दिया गया है या नहीं, कार्य करने के लिए permit issue किया गया है या नहीं यह सभी बिन्दु administrative control के example हो सकते हैं.

5.Personal Protective Equipment(PPE )-

Hierarchy of Risk Control का अंतिम बिन्दु Personal Protective Equipment है  controls hazards करने का सबसे अंतिम विकल्प है .जो work site पर बचे हुये risk के लिए एक barrier का काम करता है.

Example-

जैसे work site पर welding का work हो रहा है ऐसे में welding के दौरान hot spatter निकलता ही हैं इसे खत्म नहीं किया जा सकता अब ऐसे मैं hot spatter से बचने के लिए welder को leather hand gloves, apron, full face shield के साथ thick cotton dress उपलब्ध कराते हैं जिससे hot spatter से होने वाले खतरे जैसे कि burn of body से बचा सके.

अगर यह पोस्ट आप को अच्छा लगे तो इसे शेयर करें जिससे की अन्य safety engineering के student इसे आसानी से समझ कर working site पर इसका अनुसरण करें और अपने कार्यकस्थल पर दुर्घटना पर लगाम लगा सकें और site पर काम कर रहे workers की जान जान को बचा सकें.


अगर कोई इस तरह से पूछे तो-

Best way to control hazards by the help of hierarchy of hazard ,best way to control and and prevent hazards,what is the best way to control hazards?,control hazards,control hazards example,hazards and control guide, control hazards work place, hazards and control in construction, hazards and control guide, hazards and control risk.

इन सभी का जवाब उपर्युक्त तरीके से देना चाहिए.

इसे भी पढ़ें-

Personal Protective Equipment II स्वयं सुरक्षा उपकरण

Work at Height in Hindi

Safety Audit

Lock Out Tag Out (LOTO) in Hindi

Types of Fire II आग के प्रकार II उस पर काबू पाने की विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *