July 27, 2021
Hazards and Precaution Job Hazard Analysis Uncategorized

Cold Stress Definition, Meaning in Hindi

जिस तरह high temperature  में काम करने के पश्चात heat stress की संभावना रहती है उसी तरह cold environment में काम करने के पश्चात clod stress के खतरे रहते हैं.आज इस पोस्ट के माध्यम से cold stress temperature, cold stress in plant, cold stress definition, cold stress meaning, cold stress symptoms के साथ cold stress के बारे में अन्य प्रमुख बातों के जानेंगे. जो cold environment में काम करते समय काफी helpfulसाबित हो सकते हैं.

Cold Stress Symptoms

Definition of Cold Stress in Hindi-

“जब शरीर का आंतरित तापमान कम होने लगता है तो उसके साथ skin का तापमान भी घटने लगता है.ऐसे में जब शरीर गरम होने की क्षमता खोने लगता है या गर्म करने में असमर्थ रहता है, तो ठंड लगने से संबन्धित अनेक बीमारियाँ या चोटें हो सकती है और स्थायी रहने और permanent tissues damage के कारण मृत्यु का कारण बन सकती है.”

Cold Stress के कुछ main factors निम्न है जो कार्य स्थल पर काम करते समय खतरे का कारण बन सकता है.

  • अगर जहाँ काम किया जा रहा है वह environment naturally या artificially तरीके से ठंडा हो.
  • उच्च या ठंडी हवा ( High or Cold Wind ) तो यह हमारे के temperature को तेजी से खिचता है.
  • अगर कपड़ा पानी से या पसीना से गीला है और cold environment में काम करने से यह cold stress का कारण बन सकता है.
  • ठंडा पानी ( Cold Water ) में अगर काम हो रहा है तो यह नम हवा से 25 गुना तेजी से body के temperature को कम कर सकता है.
  • थकान(fatigue ) के कारण शरीर में गर्मी पैदा करना मुश्किल हो जाता है.

जब हम किसी cold temperature में काम करते हैं तो ऐसे में वहाँ hard work करना अनिवार्य होता है क्योंकि cold wind, cold water, ice जो शरीर से temperature खींचते हैं और यह तब होता है जब शरीर पर अपर्याप्त कपड़े होते हैं और यह स्थित cold stress का कारण बन सकती है.इसे दूर करने के बहुत से तरीके हैं लेकिन जो प्रमुख तरीका यह है की work environment को गर्म किया जाये जिससे काम करने वाले workers cold stress से सकें.

The Risk of Cold Stress-

Cold Stress hypothermia का का कारण बन सकता है.यह अचानक से नहीं हो जाता है यह एक क्रमिक प्रक्रिया (gradual process) है, हो सकता है की बहुत देर तक होने के पश्चात workers को इस बात का आभास नहीं हो पाता है कि वह danger position में पहुँच गया है.ठंड लगना सबसे महत्वपूर्ण चेतावनी में से एक है.जब किसी भी व्यक्ति को ठंड लगती है तो उसके शरीर का उसके शरीर अक temperature तेजी के साथ कम होने लगता है.

Stage of hypothermia-

Hypothermia के तीन stage होते हैं, हम यहाँ पर प्रत्येक stage के लिए warning sign के बारे में जानने वाले हैं, जिससे जानने के पश्चात हम उसका निवारण कर सकें.तो आइए hypothermia के तीनों stage को जानते हैं.

1.Mild –

  • Shivering (काँपना) – ठंड लगने के पश्चात व्यक्ति काँपने लगता है.
  •  Grogginess –अधिक alcohol लेने के पश्चात जिस तरह व्यक्ति खुद को नहीं संभाल पता है hypothermia के शुरुआती stage में ऐसे ही होता है.
  • Poor judgmental or Confuse thinking –Hypothermia के इस अवस्था में व्यक्ति confuse हो जाता है और अपना निर्णय लेने की क्षमता को खो देता है.

2.Moderate –

  • Violent Shivering- इस अवस्था में व्यक्ति तेजी से काँपने लगता है जिसे देखकर कोई भी व्यक्ति डर सकता है दूसरे शब्दो में इसे हिंसक कंपन कह सकते हैं.
  • Inability to Think or Pay Attention- जब व्यक्ति इस stage पर पहुँच जाता है तो वह न तो सोच पाता है और न ही किसी बात पर ध्यान देने की अवस्था में रहता है.
  • Slow, Shallow Breathing – व्यक्ति धीमी साँसे लेने लगता है और भी उथली अर्थात झटके के साथ साँस लेता है.
  • Slurred Speech – ऐसी अवस्था में व्यक्ति बड़बड़ाने लगता है.
  • Poor Body Coordination – वह शरीर के साथ बिल्कुल भी संतुलन नहीं बना पता है अर्थात दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि वह अपने शरीर को छोड़ देता है.

Severe (गंभीर अवस्था)-

  • Loss of Consciousness- जब व्यक्ति इस stage पर पहुँचता है तो अपना होश खो देता है.
  • Little or no Breathing- इस अवस्था में व्यक्ति साँस नहीं ले पाता है या लेता भी है बहुत धीमे-धीमे.
  • Weak, Irregular, or non- extent pulse – इस अवस्था में व्यक्ति का pulse बहुत कमजोर पड़ जाता है, या लगातार नहीं चलता है या फिर चलता भी नहीं है या उसका आभास नहीं होता है.

Reduce the Heat Stress Risk-

जब कहीं कार्य होता है तो injury या बीमारी कि संभावना रहती है.ऐसे में कार्य शुरू होने से पहले उस कार्य स्थल पर जो potential hazards होते हैं उन्हे control करने की आवश्यकता होती है.

हम यहाँ पर आप को cold stress से बचने के लिए effective way के बारे में बताने वाले हैं जो cold stress को उस स्थान से खत्म कर देगा या risk को काफी हद तक control कर देगा.अगर यह संभव नहीं होता है तो जो अन्य risk होते हैं उसे control करते हैं.

जब आप risk को कम करने जा रहे हैं तो risk control के steps को follow  हैं तो खुद से यह प्रश्न पूछें और उसे शुरू करें जो risk control के method को प्रभावी बना सके.जो निम्नलिखित दिये गए हैं.

1. Elimination and Substitution-

हो सके तो उस material को safe स्थान पर shift कर दें, ऐसे वातावरण में जहाँ cold stress की संभावना कम हो. Cold stress से बचने का सबसे effective method  में से एक है और हाँ जब material को shift कर रहे हैं तो इस प्रश्न का उत्तर अवश्य ढूंढें.

  • क्या जो work है उसे दूसरे environment में किया जा सकता है?
  • क्या काम के समय कम ठंड और पानी उत्पन्न करने वाली प्रक्रिया का उपयोग किया जा सकता है या नहीं.

2.Engineering Control-

क्या जो काम किया जाना है उसमें facilities, equipment और process में physical modification (भौतिक संशोधन) करके risk को कम किया जा सकता है.ये process लागू करने से पहले इन बातों पर ध्यान दें.

  • क्या गर्माहट देने वाले shelters को site पर रखा जा सकता है?
  • क्या machine या tools को इस तरह design किया जा सकता है जिसे बिना mittens या  gloves निकाले operate किया जा सकता है?

3.Administration Control-

इसमें work process और work policies शामिल हैं.Administrative control के अंतर्गत awareness tools और training को भी गिना जाता है जो cold stress को कम करने में अहम भूमिका निभा सकता है.इसे लागू करने से पहले निम्न question पर विचार करने जो निम्नलिखित हैं.

  • क्या exposure control plan  को develop किया गया है ?
  • क्या warning sign को उस work area में चिपकाया जा सकता है?
  • क्या कार्य के दौरान rotation  प्रणाली को लागू किया जा सकता है ?
  • क्या जो warning  sign को post किया गया है वह exposure symptoms को explain कर रहा हैं या नहीं?
  • क्या safe work procedure के बारे में posted किया गया है या नहीं?
  • क्या काम को किसी और ढंग से किया जा सकता है जिसमें workers को काम में तेजी के कारण अधिक पसीना बहाना न पड़े और काम में गतिशीलता बनी रहे.
  • क्या workers को cold stress से बचने के लिए और उसके sign (लक्षण) को जानने और जागरूकता बढ़ाने के लिए training और education को बढ़ाया जा सके.

PPE (Personal Protective Equipment )-

Cold Stress याअन्य किसी को काम करने में risk के control का सबसे effective method है.

  • क्या कपड़े के नीचे personal battery operated heaters या फिर chemical pads का प्रयोग किया जा सकता है.
  • क्या workers के पास ठंड से बचने के लिए proper कपड़े हैं या नहीं?
  • क्या कार्य शुरू होने से पहले personal protective equipment को test किया जाता है या नही?

Cold Stress Symptoms and their Treatment-

Cold stress तब और अधिक खतरनाक हो जाता है जब उसे पहचानने की भूल की जाती है.अतः उसे symptoms को पहचानना बहुत ज़रूरी होता है और उसके first aid को, जिससे कोई व्यक्ति उसके चपेट में हैं तो first aid देकर उसे खतरे से बाहर निकाला जा सके.

Immersion /Trench Foot-

Trench foot एक non-freezing injury है जो लंबे समय तक गीली और ठंडी परिस्थितियों में रहने के कारण हो सकता है.

Symptoms-

  • त्वचा का लाल होना (Reddening skin )
  • झुनझुनी होना (Tingling )
  • दर्द (Pain )
  • सूजन (Swelling )
  • पैर में ऐंठन (Leg Cramp )
  • सुन्नता (Numbness )
  • छले (Blister )

Frostbite (शीत लगना या शीतदंश)-

Frostbite का कारण skin और tissues का जमाना होता है.यह शरीर को स्थायी नुकसान पहुँचा सकता है और यह अधिक गंभीर हो जाता है तो body को हमेशा के लिए damage कर सकता है.Frostbite आमतौर पर हाथ-पैरों को प्रभावित करता है,विशेष रूप से चेहरे को, कान को, उँगलियों और खास तौर से पैरों के उँगलियों को.

Symptoms of Frostbite-

  • Frostbite के कारण skin लाल हो जाता है,उँगलियाँ, पैर की उंगलिया नाक, काम या पैर के अंगूठे में सफ़ेद धब्बे विकसित करती है.
  • शरीर का भाग Frostbite से प्रभावित होता है उस area में अक्सर झुनझुनी, दर्द महसूस होता है.
  • जो area Frostbite से affected है उस स्थान पर छाले निकल आते हैं.

First Aid –

  • Frostbitten वाले स्थान को सुरक्षित रखें.उस स्थान पर ढीले कपड़े लपेट दें और medical help  के पहुँचने तक उसे छूने की कोशिश न करें.
  • जो area frostbitten से affected हैं उसे न रगड़ें.रगड़ने का कारण skin और tissues damage हो सकता है.
  • Frostbite area पर पानी या बर्फ न डाले और frostbite  के कारण जो फफोले पड़ें हैं उसे न फोड़ें.
  • Medical help दिये जाने से पहले affected area को दुबारा गरम करने का प्रयास न करें.

Hypothermia-

Hypothermia  जैसी घटना तब घटित होती है जब body का normal temperature गिर कर 98.60 F से 950 F से भी नीचे चला जाता है. Hypothermia  का सबसे बड़ा कारण lowest temperature में रहना होता है.लेकिन अगर temperature 400 F है तब भी hypothermia  हो सकता है यदि व्यक्ति बारिश में भीगा, या बहुत ठंडे पानी में खड़े होकर काम कर रहा है.

Symptoms of Hypothermia-

1.Mild –

  • Shivering (काँपना) – ठंड लगने के पश्चात व्यक्ति काँपने लगता है.
  •  Grogginess –अधिक alcohol लेने के पश्चात जिस तरह व्यक्ति खुद को नहीं संभाल पता है hypothermia के शुरुआती stage में ऐसे ही होता है.
  • Poor judgmental or Confuse thinking –Hypothermia के इस अवस्था में व्यक्ति confuse हो जाता है और अपना निर्णय लेने की क्षमता को खो देता है.

2.Moderate –

  • Violent Shivering- इस अवस्था में व्यक्ति तेजी से काँपने लगता है जिसे देखकर कोई भी व्यक्ति डर सकता है दूसरे शब्दो में इसे हिंसक कंपन कह सकते हैं.
  • Inability to Think or Pay Attention- जब व्यक्ति इस stage पर पहुँच जाता है तो वह न तो सोच पाता है और न ही किसी बात पर ध्यान देने की अवस्था में रहता है.
  • Slow, Shallow Breathing – व्यक्ति धीमी साँसे लेने लगता है और भी उथली अर्थात झटके के साथ साँस लेता है.
  • Slurred Speech – ऐसी अवस्था में व्यक्ति बड़बड़ाने लगता है.
  • Poor Body Coordination – वह शरीर के साथ बिल्कुल भी संतुलन नहीं बना पता है अर्थात दूसरे शब्दों में कह सकते हैं कि वह अपने शरीर को छोड़ देता है.

First Aid –

1.अगर कोई व्यक्ति hypothermia से ग्रसित हो गया है तो पता चले की स्थिति में सबसे पहले ambulance को call करना चाहिए.

2.Prevent to Future heat Loss-
  • जो व्यक्ति hypothermia से ग्रसित है तो उसे सबसे पहले गर्म स्थान पर लेकर जाएँ.
  • कपड़ा गीला हो गया है उसे तुरंत बदले और सूखा कपड़ा पहनायें.
  • पूरे शरीर को गर्म कपड़े (Blanket) से ढंकें गर्दन और सर के साथ.
3.If Medical help is more than 30 minutes
  • गर्म और मीठा पदार्थ पीने के लिए दें. Alcoholको कभी भी न दें.
  • कमर में, काँख में छती, chest और गर्दन में heat pack लगाएँ.

Preventing Cold Stress-

जब cold weather में काम होना तो सबसे पहले work plan बनाएँ जो cold stress से होने वाले नुकसान पर विराम लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.इसके लिए उचित कपड़े पहनना और इस बात से अवगत होना या आभाव करना कि आप का शरीर ठंड के प्रति किस तरह का reaction कर रहा है.जो clod stress को रोकने के लिए सक्षम है या नहीं.अगर हम शराब, धूम्रपन या कुछ नशीली दवाओं से बचना चाहिए जो cold stress से बचने में सहायक होता है.

Protection Cloth-

Cold stress से बचने का जो सबसे पहला उपाय है सही कपड़ा पहनना है.कपड़े के प्रकार में भी अधिक फर्क पड़ता है.अगर कपड़ा सही है लेकिन गीला है तो अपनी insulated value खो देता है और हाँ यही woolen गिला है फिर भी अपना insulated value नहीं खोता है.

Work Practice –

a.Drinking –

खूब सारे liquids  पदार्थ पीना चाहिए.Alcoholऔर caffeine से परहेज करना चाहिए.ठंड के मौसम में dehydrate होना आसान होता है.

b.Work Schedule-

अगर संभव हो तो दिन के समय ही जब मौसम गरम हो तो काम का निपटारा करें और जब ठंड हो तो काम से break ले लेना चाहिए.Cold Stress से बचने का सबसे आसान तरीका में से एक है.

c.Buddy System-

एक दूसरे पर नज़र रखने के लिए कभी भी pairs में काम करने की अनुमति होनी चाहिए जिससे किसी एक को heat stress के संपर्क में आने के पश्चात तुरंत medical help या first aid दिया जा सके.जिससे वह खतरे से बाहर हो जाए. जो victim होते हैं वह कई बात hypothermia के लक्षण को नहीं पहचान पाते हैं.  

इसे भी जाने-

Related posts

Construction Site Hazards and their Control Measures

Wajid Ali

Construction Site पर Housekeeping के फायदे

Wajid Ali

Eye Protection in Hindi or Eye Protection meaning in Hindi

Wajid Ali

Leave a Comment